जबलपुर जिले की 81 ग्राम पंचायतों की सौ फीसदी आबादी को लगा टीका

मुख्यमंत्री ने हाल ही में जबलपुर प्रवास के दौरान कहा कि कोरोना से बचाव हेतु टीकाकरण ही एक मात्र उपाय है। मुख्यमंत्री की इस बात का जबलपुरवासियों में जादुई असर हुआ है। अब तक जिले की लक्षित आबादी के विरूद्ध 66 प्रतिशत को पहली डोज और 34 फीसदी आबादी को दोनों डोज लग चुकी है। वहीं जिले की 81 ग्राम पंचायतों की सौ-फीसदी आबादी को कोरोना का टीका लग चुका है।मुख्यमंत्री चौहान की अगुवाई में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए टीकाकरण का अभियान जारी है। इस अभियान को गति देने और लोगों को टीका लगवाने हेतु प्रोत्साहित करने के लिए मुख्यमंत्री चौहान के जबलपुर आने के बाद से जिले में टीकाकरण की रफ्तार बढ़ गई। मुख्यमंत्री ने स्वयं शत-प्रतिशत टीकाकरण कराने वाली ग्राम पंचायतों को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। उन्होंने सौ फीसदी टीकाकरण कराने वाली ग्राम पंचायतों की न केवल हौसला अफजाई की बल्कि अन्य पंचायतों को इनका अनुसरण करने की बात कही।जिले की ग्राम पंचायतों में अब सौ फीसदी टीकाकरण कराने की होड़ लगी है। पंचायतों के बीच इसी स्वस्थ प्रतिस्पर्धात्मक भावना की वजह से जबलपुर जिला, ग्राम पंचायतों में शत-प्रतिशत टीकाकरण कराने के मामले में प्रदेश में अग्रणी हैं। यहां जिले की 81 ग्राम पंचायतों की सौ-फीसदी आबादी को कोरोना का टीका लग चुका है। सौ-फीसदी वैक्सीनेटेड ग्राम पंचायतों में विकासखंड पनागर की 19, जबलपुर की 6, कुण्डम की 10, शहपुरा की 8, मझौली की 20, पाटन की 6 और सिहोरा विकासखंड की 12 ग्राम पंचायतें शामिल हैं। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने इन सभी पंचायतों के ग्रामीणों को इस विशिष्ट उपलब्धि के लिए बधाई दी है।इन सभी ग्राम पंचायतों में टीकाकरण के लिए शेष लोगों में गर्भवती, मृत व्यक्ति और कोरोना से हाल ही में स्वस्थ हुए व्यक्ति और ग्राम से बाहर निवासरत लोग शामिल हैं। संबंधित ग्राम पंचायतों ने स्वयं शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन का प्रमाण-पत्र भी जारी कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin