मध्यप्रदेश पुलिस ने देशभक्ति और जनसेवा के मंत्र को जिया है

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश पुलिस ने देशभक्ति एवं जनसेवा के मंत्र को अक्षरश: जिया है। मध्यप्रदेश में सभी प्रकार के माफियाओं, बेटियों के विरूद्ध अपराध करने वालों, नक्सलियों, मिलावटखोरों आदि सभी आपराधिक तत्वों के विरूद्ध कड़ी एवं प्रभावी कार्रवाई की गई है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोविड संकटकाल में मध्यप्रदेश पुलिस ने जान हथेली पर रखकर लोगों की सुरक्षा की है। इस दौरान हमारे कई पुलिस साथी शहीद भी हुए। मैं उन सबको नमन करता हूँ। दुनिया में पीड़ित मानवता की सेवा का ऐसा उदाहरण बिरला ही मिलता है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित राष्ट्रपति पदक विजेता पुलिस अधिकारियों के सम्मान समारोह में बोल रहे थे। इस अवसर पर उनकी धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह, डी.जी.पी. श्री विवेक जौहरी, डी.जी. होमगार्ड्स श्री अशोक दोहरे, डी.जी. जेल श्री अरविंद कुमार, पुरूस्कार विजेता सभी पुलिस अधिकारी तथा उनके परिवारजन उपस्थित थे।

नक्सलियों के विरूद्ध प्रभावी कार्रवाई

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में नक्सलियों के विरूद्ध प्रभावी कार्रवाई हुई है। हमारी पुलिस ने 5 बड़े इनामी नक्सलियों को मार गिराया तथा 3 को जीवित पकड़ा।

माफियाओं के विरूद्ध अभियान

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में भू-माफिया, ड्रग्स माफिया, शराब माफिया, खनिज माफिया सहित सभी प्रकार के माफियाओं के विरूद्ध सतत् अभियान चलाकर उनकी कमर तोड़ दी गई है। जहरीली शराब का कोराबार करने वालों के लिए मृत्युदंड तक का कड़ा कानूनी प्रावधान किया गया है।

मुस्कान अभियान में 4 हजार से अधिक बेटियों को ढूंढ़ा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश पुलिस द्वारा मुस्कान अभियान चलाकर 4 हजार से अधिक लापता बेटियों को देश के विभिन्न स्थानों से ढूंढ़कर घर वापस पहुंचाया गया है। बेटियों के विरूद्ध अपराध करने वालों के विरूद्ध हम कठोरतम कार्रवाई कर रहे हैं।

बाढ़ बचाव एवं सहायता में सराहनीय कार्य

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में हाल ही आई बाढ़ के दौरान जनता को बचाने एवं सहायता पहुँचाने में हमारी पुलिस एवं होमगार्ड्स ने सराहनीय कार्य किया है। इस दौरान 6800 व्यक्तियों को डूबने से बचाया गया।

एक नवम्बर को भी होंगे पुरस्कृत

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उत्कृष्ट कार्य करने वाले पुलिस अधिकारियों सहित पूरे पुलिस अमले को मध्यप्रदेश के स्थापना दिवस 1 नवम्बर को आयोजित समारोह में भी पुरस्कृत किया जाएगा।  

 हर जिले में महिला थाने

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जनसुरक्षा एवं अपराधियों के विरूद्ध कार्रवाई में हमारी महिला पुलिस कर्मियों ने भी  उत्कृष्ट कार्य किया है। प्रदेश में लगभग हर जिले में महिला थाने प्रारंभ किए गए हैं। मध्यप्रदेश पुलिस भर्ती में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत स्थान आरक्षित हैं।

पदोन्नति के लिए रास्ता निकाला

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि न्यायालय से रोक होने के कारण प्रदेश में पदोन्नति प्रक्रिया रूकी हुई है। हमने पुलिस का मनोबल बढ़ाने के लिए रास्ता निकाला और उन्हें उच्च पद प्रदान किए। आगे भी यह प्रक्रिया जारी रहेगी।

अपराधियों के विरूद्ध प्रभावी कार्रवाई 

 

प्रारंभ में पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी ने मध्यप्रदेश पुलिस की उपलब्धियों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि गत वर्ष कोविड के कारण सम्मान समारोह आयोजित नहीं हो पाया था। मध्यप्रदेश पुलिस ने माफियाओं, नक्सलियों, महिला एवं बच्चों के प्रति अपराध करने वालों के विरूद्ध प्रभावी कार्रवाई की है। कोविड काल में पुलिस ने उत्कृष्ट कार्य किया। हमारे पुलिस के साथियों को बड़ी संख्या में कर्मवीर योद्धा पदक प्रदान किए गए हैं। मध्यप्रदेश पुलिस में 11 हजार से अधिक पुलिस कर्मियों को उच्च पद प्रदान किए गए हैं। पुलिस बल का निरंतर प्रशिक्षण, कौशल उन्नयन, थानों एवं अन्य संवेदनशील इलाकों में सी.सी.टी.वी. लगाना आदि कार्य जारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin